पश्चिम बंगाल की सीएम ममता बनर्जी का अस्पताल के बेड से ही वीडियो सामने आया है। ममता बनर्जी का यह वीडियो उनकी पार्टी टीएमसी के ट्विटर अकाउंट पर जारी किया गया है। जो कि काफी वायरल हो रहा है। इस वीडियो में ममता बनर्जी ने अपने कार्यकर्ताओं से शांति बनाए रखने की अपील की है। यही नहीं उन्होंने कहा कि चोट लगने के बाद भी उनका काम बाधित नहीं होगा और वह पैर में चोट लगने की वजह से व्हीलचेयर पर बैठकर प्रचार करेंगी। उन्होने कहा कि अभी मुझे कुछ दिनों तक व्हीलचेयर पर रहना होगा। इसके बाद भी मैं चुनाव में बाधा नहीं आने दूंगी और व्हीलचेयर पर ही प्रचार करूंगी।

मुख्यमंत्री ममता बनर्जी बुधवार को नंदीग्राम में चुनाव प्रचार करने के दौरान घायल हो गई थीं, और उन्हें कोलकाता ले जाना पड़ा था और उनको अस्पताल में भर्ती करना पड़ा था। उन्होंने आरोप लगाया था कि चार-पांच लोगों ने उन्हें धक्का दिया, जिसके कारण वह जमीन पर गिर गईं और उनके बांए पैर, कमर, कंधे और गर्दन में चोट आई है। इसके बाद मुख्यमंत्री को कोलकाता ले जाया गया, जहां के एसएसकेएम अस्पताल में डॉक्टरों की एक टीम उनका इलाज कर रही है। डॉक्टरों ने बताया है कि मुख्यमंत्री के बायें पैर के टखने तथा पांव की हड्डियों में गंभीर चोट आई हैं और उनके दायें कंधे, हाथ तथा गले पर भी चोट लगी है और उनका इलाज चल रहा है।

ममता के घायल होने के बाद तृणमूल कांग्रेस ने आरोप लगाया है कि यह प्रचार अभियान से उन्हें दूर करने की साजिश है। पार्टी नेता सौगत रॉय ने कहा कि बहुत से लोग नहीं चाहते कि वह प्रचार करें। वे उन्हें इस रास्ते से हटाना चाहते हैं। भाजपा को खुद पर शर्म आनी चाहिए कि वह इस हद तक गिर गई है कि एक महिला पर हमला कर रही है।

उधर, बीजेपी ने इस मामले की जांच सीबीआई से करवाने की मांग की है। बंगाल के बीजेपी अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि इस बात की जांच कराई जाने की जरूरत है कि वास्तव में हुआ क्या था। ताकि सच सबके सामने आ सके। कैसे जेड-प्लस सुरक्षा प्राप्त व्यक्ति पर हमला हुआ, यह जांच का विषय है। सच्चाई सामने लाने के लिए राज्य को मामले की सीबीआई जांच के आदेश देने चाहिए।

‘हमले’ के बाद टला मेनिफेस्टो जारी करने का प्रोग्राम
आज तृणमूल कांग्रेस का घोषणापत्र जारी होने वाला था लेकिन, ममता बनर्जी पर कथित हमले के बाद तृणमूल कांग्रेस ने राज्य में आगामी चुनाव के लिए अपना मेनिफेस्टो जारी करने का कार्यक्रम टाल दिया। पार्टी अध्यक्ष बनर्जी द्वारा कालीघाट में अपने आवास पर दोपहर को घोषणापत्र जारी करने का कार्यक्रम था। तृणमूल कांग्रेस के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि घोषणापत्र जारी करने के कार्यक्रम को कुछ समय के लिए टाल दिया गया है। ममता बनर्जी के ठीक होने और घर वापस आने के बाद इसे जारी किया जाएगा। हमारा घोषणापत्र तैयार है, लेकिन मुख्यमंत्री की गैर-मौजूदगी में इसे जारी करने का सवाल ही नहीं उठता। ममता बनर्जी ने पांच मार्च को पार्टी के 291 उम्मीदवारों की सूची जारी की थी। पश्चिम बंगाल में आठ चरणों में 27 मार्च से मतदान शुरू होगा। मतगणना दो मई को होगी।