यूपी में आज पंचायत चुनाव की अधिसूचना जारी हो गई है। चुनाव आयोग ने लखनऊ में प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि कुल चार चरण में मतदान चरणबद्ध तरीके से होंगे। जो इस तरह से होंगे, पहले चरण की वोटिंग 15 अप्रैल, दूसरे चरण की वोटिंग 19 अप्रैल, तीसरे चरण के लिए 26 अप्रैल और चौथे चरण में 29 अप्रैल को वोट डाले जाएंगे, तथा मतगणना 2 मई को होगी। नामांकन 3 अप्रैल से होंगे, इसमें हर चरण में नामांकन के लिए दो दिन रखे गए हैं। दूसरे चरण का नामांकन 7-8 अप्रैल को होगा। तीसरे चरण का नामांकन 13 और 15 अप्रैल को होगा तथा चौथे चरण का नामांकन 17-18 अप्रैल को होगा। चुनाव आयोग ने इन तारीखों अपनी मुहर लगा दी है।
पहले चरण में इन जिलों में होनी है वोटिंग
प्रयागराज, रायबरेली ,हरदोई, अयोध्या ,श्रावस्ती, संतकबीर नगर, गोरखपुर, जौनपुर, भदोही, गाजियाबाद, सहारनपुर, रामपुर, बरेली, हाथरस, आगरा, कानपुर नगर, झांसी ,महोबा।
दूसरे चरण में इन जिलों में होनी है वोटिंग
लखीमपुर खीरी, सुल्तानपुर, गोंडा ,महाराजगंज, वाराणसी और आजमगढ़, मुजफ्फरनगर, बागपत, गौतमबुध नगर, बिजनौर, अमरोहा, बदायूं, एटा ,मैनपुरी, कन्नौज, इटावा, ललितपुर, चित्रकूट, प्रतापगढ़, लखनऊ। 

तीसरे चरण चरण में इन जिलों में होना है मतदान  
बलरामपुर, सिद्धार्थनगर, देवरिया, चंदौली, मिर्जापुर और बलिया, शामली, मेरठ, मुरादाबाद, पीलीभीत, कासगंज, फिरोजाबाद, औरैया, कानपुर देहात, जालौन, हमीरपुर, फतेहपुर, उन्नाव, अमेठी, बाराबंकी,
चौथे चरण में इन जिलों में होना है मतदान  
बहराइच, बुलंदशहर, हापुड़, संभल, शाहजहांपुर, अलीगढ़, मथुरा, फर्रुखाबाद, बांदा ,कौशांबी, सीतापुर, अंबेडकरनगर, बहराइच, बस्ती ,कुशीनगर, गाजीपुर, सोनभद्र और मऊ जिले में वोट डाले जायेंगे।


पंचायत चुनाव में सीट आवंटन की अंतिम सूची का प्रकाशन शुरू
 
पंचायत चुनाव में आरक्षण और आरक्षित एवं अनारक्षित सीटों के आवंटन की अंतिम सूची का प्रकाशन शुरू हो गया है। गुरुवार को उन तमाम छोटे जिलों में जहां आपत्तियां कम आई थी वहां आरक्षित-अनारक्षित सीटों की अंतिम सूची का प्रकाशन कर दिया गया जबकि ज्यादातर बड़े जिलों में सूची को अंतिम रूप दिए जाने का कार्य देर शाम तक जारी था। आज इन सभी बचे हुए जिलों की ओर से भी वहां की अंतिम सूची प्रकाशित की जाएंगी और आज के आज ही सभी 75 जिलों का पूरा ब्यौरा जिलाधिकारियों की ओर से पंचायती राज विभाग को ऑनलाइन भेज भी दिया जाएगा। जहाँ से सभी को अंतिम सूची उपलब्ध करा दिया जाएगा।

सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज 

 बीते 15 मार्च को हाईकोर्ट द्वारा जारी आदेश के खिलाफ सीतापुर जिले के बिसवां के दिलीप कुमार ने सुप्रीम कोर्ट में विशेष याचिका दाखिल कर रखी है इसलिए 26 मार्च पंचायत चुनाव की प्रक्रिया के लिए भी काफी महत्वपूर्ण माना जा रहा है, इसमें उत्तर प्रदेश सरकार तथा पंचायती राज विभाग के साथ-साथ राज्य निर्वाचन आयोग भी पक्षकार बनाया गया है। लिहाजा भावी प्रत्याशियों के साथ-साथ उनके कार्यकर्ताओं की निगाह भी सुप्रीम कोर्ट की सुनवाई पर लगी हुई है। हालांकि चुनावी जानकारों का यह भी कहना है कि प्रदेश में प्रस्तावित पंचायत चुनाव को लेकर सरकार और आयोग ने अपनी सभी तैयारियां पूरी कर रखी हैं, और पूरी तरह से आश्वस्त हैं।