हम सब को पता है कि हेल्‍दी डाइट और वर्कआउट वेट लॉस का अचूक फॉर्मूला है। हेल्दी डाइट में भी कुछ खास  फल और सब्जियां ऐसे होते हैं, जो आपकी वेट लॉस की प्रक्रिया की गति बढ़ा देते हैं। ऐसा ही एक फल है चीकू। हालांकि ये फल अपने अजीब रंग और महक के कारण बहुत कम लोगों द्वारा इसे पसंद किया जाता है। पर जब आप इसके गुणों के बारे में जान लेंगे, तो जरूर इसे अपने आहार में शामिल करेंगे।

इस पर एक शोध किया गया तो इस शोध के मुताबिक एक आश्चर्यजनक तथ्य सामने आया है कि विश्व की सम्पूर्ण आबादी के 76 प्रतिशत आबादी यानी करीब 5.5 अरब लोग मोटापे के शिकार हो चुके हैं। शोधकर्ताओं ने आगाह किया है कि यह धीरे-धीरे विकराल रुप लेता जा रहा है, जो चिंताजनक स्थिति है।

लेकिन अच्छी खबर यह है कि हमारे आस पास कई ऐसे फूड्सप्रकृति ने दिए हैं, जो मोटापे से राहत पाने के साथ साथ वजन कम करने में भी आपकी मदद करते हैं। उन्हीं में से एक फूड है चीकू या सापोडिला (sapodilla), आइये जानते है कैसे?

वैसे तो चीकू के स्वास्थ्य के दृष्टि से अनेक लाभ हैं, लेकिन इसका एक लाभ यह भी है कि यह आपको वजन कम करने में मदद करता है। कैसे? चलिए हम आपको बताते हैं, इसके बारे में –

चीकू वजन कम करने के लिए कैसे फायदेमंद है?

मोटापा और अधिक वजन होने के कारण हमारे शरीर में विभिन्न बीमारियों का खतरा बढ़ जाता है। शरीर के सामान्य वजन को बनाए रखने से मोटापे से जुड़ी कई बीमारियों के जोखिम को कम करने में मदद मिलती है। इसलिए, जिनका वजन ज्यादा है या मोटे व्यक्तियों को परफेक्ट डायट प्लान और एक्सरसाइज की मदद से अपना वजन कंट्रोल में रखें चाहिए।

लेप्टिन (leptin) एक सैच्युएटी हॉर्मोन (satiety hormone) है, जो खाने की चाहत को रोकने के लिए मस्तिष्क को संकेत भेजता है, दूसरे शब्दों में यह मस्तिष्क को तृप्ति का संकेत देता है और पेट भरा भरा रहने का अहसास दिलाता है।

शोध में पाया गया है कि जो व्यक्ति अधिक वजन वाले या मोटे होते हैं, उनमें रक्त में लेप्टिन का उच्च स्तर होता है, अर्थात वे लेप्टिन प्रतिरोधी होते हैं।उनमे खाने की चाहत ज्यादा होती है जिससे वे औरों के मुकाबले ज्‍यादा खाना खाते हैं।

क्‍या कहता है शोध

शोध में पाया गया है कि चीकू (sapodilla) का इस्तेमाल करना, लेप्टिन प्रतिरोध को कम करने में मदद करता है। इसके अलावा, चीकू वसा कोशिकाओं (Fat cells) में जो ट्राइग्लिसराइड्स (triglycerides) का पहले से जमा होता है उसके भंडारण को भी कम करने में मदद करता है। इसके अलावा, क्योंकि इस फल में उच्च मात्रा में डाइट्री फाइबर होते हैं। यह तृप्ति (परिपूर्णता की भावना) प्रदान करता है, पेट भरा भरा सा लगता है। इस प्रकार, वजन घटाने के लिए चीकू (sapodilla) फल को कैलोरी प्रतिबंधित आहार के हिस्से के रूप में शामिल किया जा सकता है।

चीकू वजन कम करने में कैसे मददगार है

इस अनोखे फल का हमारे शरीर के वजन पर कोई सीधे तौर पर कोई प्रभाव नहीं पड़ता है , लेकिन यह अप्रत्यक्ष रूप से हमें बहुत अधिक वसा जलाने में मदद करता है। वजन घटाने में सहायता करने के लिए इस फल के काम करने के तीन मुख्य तरीके हैं:

1 . स्वस्थ पाचन की गति को बढ़ा देता है

चीकू पाचन की प्राकृतिक प्रक्रिया को बढ़ाकर और विभिन्न जठरांत्र संबंधी समस्याओं को कम करके हमारे चयापचय प्रक्रिया में काफी सुधार करता है। जो कि वजन घटाने को बढ़ावा देने और मोटापे को कम करने के लिए आवश्यक है।

2. कब्ज़ हटाने में सहायता करता है

चीकू में डाइट्री फाइबर बहुत अधिक है, जो इसे एक अद्भुत रेचक और फायदेमंद बनाता है। यह जठरांत्र संबंधी मार्ग के माध्यम से मल त्याग में सहायता करता है, पेट की गैस कम होती है, और कब्ज का इलाज होता है जिससे पाचन बेहतर होता है। ये सभी कारक तेजी से और प्रभावी तरीके से वजन को कम करने में मदद करते हैं।और वजन घटने लगता है।

3. शरीर को डिटॉक्सीफाई करता है

चीकू एंटीऑक्सीडेंट विटामिन सी से भरपूर होता है, जो इसमें डिटॉक्सिफाइंग गुणों को जोड़ता है। यह फल हमारे शरीर से विषाक्त पदार्थों को बाहेर निकलता है और इससे छुटकारा दिलाने में मदद करता है, जो हमारे वजन घटाने की प्रक्रिया
को सुचारू ढंग से चलाता रहता है।
और इस तरह से हम मोटापे से छुटकारा पाने लगते हैं।